यूपी चुनाव: अलीगढ़ की रैली में PM मोदी ने खेला दलित कार्ड, कहा- भीम ऐप लाकर किया दलितों का सम्मान

अलीगढ़: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक जनसभा को संबोधित किया. इस रैली में पीएम मोदी ने दलित वोटों को अपनी ओर खींचने के लिए बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर का भी सहारा लिया. उन्होंने कहाकि भीम ऐप भी बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर के नाम पर रखा गया है. बीजेपी की सरकार ने दलितों का सम्मान किया है. लेकिन कांग्रेस के राज में बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न नहीं मिला.

साथ ही प्रदानमंत्री मोदी ने कहाकि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की आंधी चल रही है. उन्होंने कहा कि संसद में बीजेपी के और मजबूत हो जाने के डर से विरोधी उनके खिलाफ एकजुट हो रहे हैं. लेकिन यह आंधी न तो टिकने देगी और न ही बचने देगी.

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कांग्रेस से गठबंधन पर तंज कसते हुए कहाकि यहां एक प्रकार से केसरिया सागर मेरे सामने उफान भर रहा है. जब आंधी तेज होती है तो छोटी उमर का इंसान भी उस आंधी में टिक नहीं पाता, इसलिए वह कोई सहारा ढूंढता है. इस बार बीजेपी की आंधी इतनी तेज है कि यहां के मुख्यमंत्री किसी को भी पकड़ लेते हैं. वह और लोगों को पकड़ने में लगे हैं, लेकिन यह आंधी उनको न टिकने देगी और न ही बचने देगी.

नोटबंदी का भी जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहाकि वह ऐसे-ऐसे पेंच कस रहे हैं कि विपक्षी तिलमिला उठे हैं. राजनीतिक दलों का गुस्सा अभी जितना नजर आता है, वह पहले कभी नहीं था. सभी नेता मोदी को पराजित करने के लिए एकजुट हो रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने जहां मेरठ की रैली में SCAM का मतलब समझाया था तो वहीं अलीगढ़ की रैली में उन्होंने विकास का मतलब समझाया. उन्होंने कहाकि तीन मजबूत खम्भों पर विकास की मजबूत इमारत बनेगी. उनकी नजर में विकास के ‘वि’ का अर्थ विद्युत से है, ‘का’ का मतलब कानून-व्यवस्था और ‘स’ का मतलब सड़क से है. इन तीन खम्भों पर विकास की भव्य इमारत बनाई जा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *