You Matter Most

CBSE पेपर लीक मामले में 25 से पूछताछ, 8 टीमें गठित

1 min read

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सीबीएसई पेपर लीक मामले में जांच शुरू कर दी है .ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि सीबीएससी की तरफ से दी गई शिकायत के आधार पर दोनों मामले दर्ज किए गए हैं.पहला मामला अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के संबंध में कल दर्ज किया था. वहीं 10वीं का पेपर लीक होने का मामला आज दर्ज किया गया. ये मामले धोखाधड़ी, आपराधिक षडयंत्र और आपराधिक विश्वासघात के आरोप में दर्ज किए गए हैं.

मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल का गठन किया गया है जिसमें दो पुलिस उपायुक्त , चार सहायक पुलिस आयुक्त और पांच निरीक्षक शामिल हैं. यह दल ज्वाइंट कमिश्नर आलोक कुमार की निगरानी में काम करेग. उथर बुधवार को एसएससी पेपर लीक मामले में यूपी पुलिस की टीम ने दिल्ली पुलिस की उत्तरी जिला की टीम के साथ मिलकर तिमारपुर इलाके में छापेमारी की थी और चार लोगों को गिरफ्तार किया था.

करीब 25 लोगों से पूछताछ 
इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कई इलाकों में बीती रात छापेमारी की है. इतना ही नहीं पुलिस ने इस मामले में करीब 25 लोगों से पूछताछ की है, जिसमें अधिकतर छात्र हैं जिनके पास हाथ से लिखा प्रश्न पत्र था. पुलिस इस मामले में पता लगाने में जुटी है की आखिरकार ये पेपर कहां से लीक हुआ और व्हाट्सएप पर कैसे लोगों तक पहुंचा.

राजेंद्र नगर के एक शख्स पर शक  
क्राइम ब्रांच को दी शिकायत में राजेंद्र नगर के एक शख्स की भूमिका पर शक  जताया गया है. ये शख्स एक कोचिंग सेंटर भी चलाता है. वहीं अभिभावकों ने गणित और अर्थशास्त्र के पेपर दोबारा कराने के फैसले के खिलाफ अभिभावकों ने ऑनलाइन पिटिशन शुरू की है. अब तक 4 हज़ार से भी ज़्यादा अभिभावक जुड़ चुके हैं.

कमिश्नर को अपडेट किया
क्राइम ब्रांच के स्पेशल आर पी उपाध्याय और क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर आयुक्त आलोक कुमार ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बुधवार शाम जांच के बारे में अपडेट किया. दिल्ली पुलिस ने कई इलाकों में बीती रात छापेमारी की है. दिल्ली पुलिस ने एक बयान जारी करके कहा कि सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर उन्होंने दो मामले दर्ज किए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *